Credit Guarantee Scheme

Credit Guarantee Scheme: केंद्र सरकार के द्वारा वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए कोरोना से प्रभावित क्षेत्रों में छोटे-मोटे व्यापारियों या कारोबारियों के लिए क्रेडिट गारंटी योजना लोन की शुरुआत की गई है जिसका लाभ भारत के विभिन्न क्षेत्रों के कारोबारियों को दिया जाएगा। यह क्रेडिट गारंटी योजना लोन का का लाभ सिर्फ कोरोना प्रभावित क्षेत्रों के व्यापारियों को ही दिया जाएगा। 28 जून 2021 को को वित्तमंत्री निर्मला सितारमन ने प्रेस कॉनफेरेंस के माध्यम से वर्तमान स्थिति को देखते हुए इस योजना को शुरुआत करने की बात कही है।

Credit Guarantee Scheme का उद्देश्य

क्रेडिट गारंटी योजना लोन की शुरुआत करने का मुख्य उद्देश्य कोरोना महामारी के कारण छोटे मोटे कारोबारियों का कारोबार लगभग बंद ही हो गई है। ऐसे में केंद्र सरकार ने क्रेडिट गारंटी योजना की शुरुआत कर भारत के करीब 25 लाख छोटे कारोबारियों को इस योजना के तहत 1.25 लाख ( सवा लाख) रुपए का कर्ज देगी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन ने बताया है की इस योजना के तहत दी जाने वाली लोन की राशि अधिकतम 3 वर्षों के लिए दी जाएगी।

Credit Guarantee Scheme

इस योजना के तहत दी जाने वाली लोन को लेकर निर्मला सीतारमन ने बताया है की आरबीआई के द्वारा जारी की गई दर से 2 प्रतिशत कम दर पर ही यह ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा। उनके द्वारा बताया गया है की सामान्य तौर पर ब्याज 10 से 11 प्रतिशत वार्षिक दर पर उपलब्ध करवाई जाती है लेकिन क्रेडिट गारंटी योजना के तहत मात्र 8.25 प्रतिशत ब्याज दर पर यह ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होंने वर्तमान स्थिति को देखते हुए बताया की कारोबारियों से पिछला लोन की वसूली किए बगैर ही नई लोन उपलब्ध करवा रहे है ताकि वो इस महामारी के कारण बंद हुआ व्यापार को फिर से शुरू कर पाए।

Credit Guarantee Scheme का आवेदन प्रक्रिया

वर्तमान समय में इस Credit Guarantee Scheme का लाभ लेने के लिए आवेदक को किस प्रकार से आवेदन करना है उसकी जानकारी नहीं दी गई है। सरकार के द्वारा जैसे ही जानकारी दी जाती है उसे यहां पर अपडेट कर दिया जाएगा।

अन्य योजनाओ के बारे में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Scroll to Top